पुरुष खिलाड़ियों का पता पूछ कर कोरोना टेस्ट करा रहा बोर्ड, महिला खिलाड़ियों से कहा खुद लेकर आओ रिपोर्ट, दोनों टीमों को साथ जाना है इंग्लैंड

नई दिल्ली31 मिनट पहलेलेखक: राजकिशोर

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) का पुरुषवादी रवैया सामने आया है। भारत की पुरुष और महिला दोनों टीमों को इंग्लैंड दौरे पर जाना है। बोर्ड ने पुरुष खिलाड़ियों से पता पूछ-पूछ कर कोरोना टेस्ट कराया है। एक खिलाड़ी का तीन-तीन बार टेस्ट हो रहा है। वहीं महिला खिलाड़ियों से कहा गया कि वे खुद टेस्ट कराएं और रिपोर्ट साथ लेकर आएं तभी उन्हें बायो बबल में एंट्री दी जाएगी।

महिला और पुरुष टीम की 19 मई तक बबल में एंट्री
महिला टीम को 19 मई तक बायो-बबल में एंट्री करने को कहा गया है। वहीं, इससे पहले BCCI ने मेन्स टीम को भी 19 मई तक मुंबई में क्वारैंटाइन होने को कहा था। बोर्ड ने खिलाड़ियों के मुंबई पहुंचने से पहले उनके घर पर ही कोरोना जांच की व्यवस्था की है, ताकि खिलाड़ियों को किसी तरह की कोई परेशानी न हो। खिलाड़ियों के साथ इंग्लैंड जाने वाले परिजनों की भी जांच होगी। बबल में एंट्री के वक्त भी बोर्ड ही पुरुष खिलाड़ियों की जांच कराएगा।

महिला खिलाड़ी ने भास्कर से क्या कहा?
इंग्लैंड टूर पर वुमन्स टीम के साथ जा रहीं दो खिलाड़ियों ने भास्कर से कहा कि बोर्ड से सूचना प्राप्त होने के तुरंत बाद उन्होंने जांच करवाई। क्रिकेटर ने कहा कि रिपोर्ट मिलने में भी वक्त लगता है, इसलिए जल्दी जांच करवाई। वुमन्स टीम 16 जून से 15 जुलाई तक इंग्लैंड में 1 टेस्ट, 3 वनडे और इतने ही टी-20 खेलेगी।

मामला क्या है?
दरअसल मेन्स टीम भी जून में इंग्लैंड दौरे पर रवाना होगी। वहां टीम को वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ 5 टेस्ट की सीरीज खेलनी है। इसके लिए बोर्ड तैयारियों में जुटा है। बोर्ड ने इसके लिए एक रोडमैप भी तैयार किया है।

इसके मुताबिक, मेन्स और वुमन्स टीम में शामिल सभी खिलाड़ी 19 मई से मुंबई में क्वारैंटाइन होंगे। खिलाड़ियों को मुंबई में 48 घंटे पहले की टेस्ट रिपोर्ट पेश करनी होगी। निगेटिव होने के बाद ही वे होटल में एंट्री कर पाएंगे, जहां उन्हें एक हफ्ते क्वारैंटाइन रहना होगा।

विराट-रहाणे को शर्त के साथ क्वारैंटाइन से छूट
मेन्स प्लेयर्स को किसी तरह की कोई परेशानी न हो, इसके लिए बोर्ड ने सभी खिलाड़ियों के घर पर ही कोरोना जांच की व्यवस्था की है। मुंबई में रहने वाले कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा और अंजिक्य रहाणे सहित अन्य खिलाड़ियों को शर्त के आधार पर एक हफ्ते के क्वारैंटाइन में छूट देने का फैसला किया है, लेकिन इन खिलाड़ियों को अपने घर में ही आइसोलेशन पर रहना होगा। वे घर के बाहर नहीं जा सकेंगे।

मेन्स टीम में शामिल एक खिलाड़ी ने भास्कर को बताया कि अब तक दो कोरोना टेस्ट हो चुके हैं। तीसरा टेस्ट कल होगा। एक दिन के गैप के साथ तीन टेस्ट कराए जा रहे हैं। साथ ही खिलाड़ियों के साथ जाने वाले परिजनों के भी RT-PCR टेस्ट कराए गए हैं।

वुमन्स टीम के लिए कोई व्यवस्था नहीं
वुमन्स टीम के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है। उन्हें इस महामारी में खुद ही जांच करवाने को कहा गया है। ये खिलाड़ी अस्पताल या जांच सेंटर जाकर खुद जांच कराएंगी। ऐसे में इनके किसी संक्रमित से कॉन्टैक्ट में आने का खतरा भी बढ़ जाएगा।

BCCI ने अपने फरमान में यह भी कहा है कि अगर कोई खिलाड़ी बायो बबल में कोरोना पॉजिटिव मिलता है, तो उसे टीम से बाहर कर दिया जाएगा। ऐसे में वुमन्स टीम को लेकर इतना बड़ा रिस्क लिया गया।

टेस्ट और वनडे टीमः मिताली राज (कप्तान), हरमनप्रीत कौर (उपकप्तान), स्मृति मंधाना, पूनम राउत, प्रिया पूनिया, दीप्ति शर्मा, जेमिमा रॉड्रिग्ज, शेफाली वर्मा, स्नेह राणा, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), इंद्राणी रॉय (विकेटकीपर), झूलन गोस्वामी, शिखा पांडे, पूजा वस्त्राकर, अरुंधति रेड्डी, पूनम यादव, एकता बिष्ट और राधा यादव।

टी-20 टीमः हरमनप्रीत कौर (कप्तान), स्मृति मंदाना (उपकप्तान), दीप्ति शर्मा, जेमिमा रॉड्रिग्ज, शेफाली वर्मा, रिचा घोष, हर्लीन देओल, स्नेह राणा, तानिया भाटिया (विकेटकीपर), इंद्राणी रॉय (विकेटकीपर), शिखा पांडे, पूजा वस्त्राकर, अरुंधति रेड्डी, पूनम यादव, एकता बिष्ट, राधा यादव और सिमरन दिल बहादुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *